Loading...

शत्रुघ्न सिन्हा ने आडवाणी जी को लेकर किया बड़ा दावा, बीजेपी के खेमे में खलबली

शत्रुघ्न सिन्हा ने मौजूदा बीजेपी नेतृत्व पर निशाना साधते हुए कहा कि अटल-आडवाणी के समय की बीजेपी और आज की बीजेपी में जामीन-आसमां का फर्क है, उस समय लोकतंत्र था, आज तानाशाही है।

कांग्रेस के स्टार प्रचारक और चर्चित बॉलीवुड एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया है, जिसकी खूब  चर्चा हो रही है, दरअसल एक निजी न्यूज चैनल से बात करते हुए शॉटगन ने कहा कि जब उन्होने बीजेपी छोड़ने का फैसला लिया और  इसकी जानकारी लाल कृष्ण आडवाणी को दी, तो उनकी आंखों में आंसू थे, लेकिन उन्होने मुझे पार्टी छोड़ने से नहीं रोका।

आशीर्वाद लेने गया था 
शॉटगन ने बताया कि जब उन्होने बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल होने का फैसला लिया, तो नई राजनीतिक पारी शुरु करने से पहले आडवाणी जी के पास आशीर्वाद लेने गये,

तो वो भावुक थे, उनकी आंखों में आंसू थे, शॉटगन ने कहा कि उन्होने मुझे शुभकामनाएं दी, कहा ठीक है, मैं तुमसे प्यार करता हूं।

बदल चुकी है बीजेपी
शत्रुघ्न सिन्हा ने मौजूदा बीजेपी नेतृत्व पर निशाना साधते हुए कहा कि अटल-आडवाणी के समय की बीजेपी और आज की बीजेपी में जामीन-आसमां का फर्क है,
उस समय लोकतंत्र था, आज तानाशाही है, शॉटगन ने आडवाणी जी का उदाहरण देते हुए  कहा कि आज बीजेपी अपने वरिष्ठ और बुजुर्ग नेताओं के साथ सही व्यवहार नहीं कर रही, आडवाणी जी बीजेपी के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं,  लेकिन उनका टिकट काटकर अमित शाह को चुनाव लड़ा दिया गया।

23 मई को एक्सपायरी डेट
जब शॉटगन से पूछा गया कि क्या बालाकोट हमला चुनाव में असर छोड़ने वाला है, तो उन्होने कहा कि आज हर हिंदुस्तानी देशभक्त है,

जब आप पीएम मोदी से बेरोजगारी जैसे मुद्दे पर बात करना चाहेंगा, तो आपको वो पुलवामा की याद दिलाने लगेंगे,  वो जनता के असल मुद्दों पर जवाब ही नहीं दे रहे, शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मोदी 23 मई के बाद पीएम नहीं रहेंगे, ममता बनर्जी ने उन्हें सही नाम दिया है एक्सपायरी पीएम का, चुनाव परिणाम के बाद उन्हें झोला उठाकर जाना ही पड़ेगा।

Related

Viral 4749186921782829501

Post a Comment

emo-but-icon

Loading...

Hot in week

Recent

Comments

item